फोटो सौ. (Reuters)

फोटो सौ. (Reuters)

मेडागास्कर (Madagascar) के राष्ट्रपति एंड्री राजोइलिना ने कहा कि WHO ने उन्हें कोरोना वैक्सीन में विषाक्त डालने के लिए 20 मिलियन डॉलर की पेशकश की है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 7, 2020, 4:40 PM IST

एंटानानैरिवो. मेडागास्कर (Madagascar) के राष्ट्रपति एंड्री राजोइलिना ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को लेकर नया खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ ने उन्हें कोरोना वायरस के लिए अपनी रेमेडी में थोड़ा विषाक्त डालने के लिए 20,000,000 डॉलर की पेशकश की है. साथ ही कहा कि WHO ने उन्हें बताया कि उनकी रेमेडी को यूरोपीय लोगों ने हैक कर लिया है.

obrempongnana.wordpress.com की एक खबर के अनुसार, एंड्री राजोइलिना ने कहा, ‘लोग सतर्क रहें, विश्व स्वास्थ्य संगठन जिसे हमने ये सोचकर जॉइन किया था कि वह हमारी मदद करेगा, वह हमारी मदद नहीं कर रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘मेरे देश मेडागास्कर ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लिया है. लेकिन यूरोपीय लोगों ने मेरे अफ्रीकी दोस्तों को मारने के लिए इस उपाय में विषाक्त पदार्थों को डालने के लिए 20,000,000 डॉलर प्रस्तावित किए हैं. मैं सभी अफ्रीकियों से आग्रह करता हूं कि उनकी कोरोना वायरस वैक्सीन का उपयोग ना करें. क्योंकि यह कोरोना का इलाज नहीं कर रहा बल्कि जान ले रहा है. हमारी वैक्सीन पीले रंग की है. इसलिए कोई भी हरे रंग की वैक्सीन का इस्तेमान ना करे. यूरोपियों ने हमारी वैक्सीन की रेमेडी को हैक कर लिया है और उसमें वे लोग जहर मिला रहे हैं.’

ये भी पढ़ें: UK: क्वीन एलिजाबेथ को सबसे पहले लगेगा टीका, मंगलवार से होगा मास वैक्सीनेशन

राजोइलिना ने आगे कहा कि प्लीज इस मैसेज को हर एक व्यक्ति तक पहुंचाएं. क्योंकि उन लोगों ने हमारी वैक्सीन के उपाय को हैक कर लिया है और मैं चाहता हूं कि सभी को इस बारे में पता लगे.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »